Full Surah Ikhlas in Hindi | सूरह इखलास इन हिंदी

Assalamualaikum, दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं एक बहुत ही खास सूरत ” Surah Ikhlas in Hindi ” के बारे में जो खुद में ही एक बहुत बड़ी फजीलत रखने वाली दुआ है।

इस सूरत को पढ़ने के अनगिनत फायदे हैं और अनगिनत सवाब है।

तो आज मैं आप सभी के साथ शेयर करूंगी सूरह इखलास के बारे में डिटेल्स। और हम इसी आर्टिकल में जानेंगे Surah Ikhlas in Hindi ,हिंदी और इंग्लिश और तो और रोमन इंग्लिश ट्रांसलेशन में।

जिससे कि आपको इस सूरत को समझने में ज्यादा आसानी रहे और आप इसको किसी भी ट्रांसलेशन में पढ़ सके।

इसी के साथ जानेंगे इस सूरत को पढ़ने की फजीलत और फायदे तो, बन रहे लास्ट तक इस आर्टिकल surah al ikhlas in hindi में।

Surah Ikhlas :

आपकी सहायता के लिए मैंने इस सूरह Surah Ikhlas को हिंदी , इंग्लिश और उर्दू में दिया है आप अपनी सहूलियत के अनुसार इसको पढ़ सकते है।

Surah Ikhlas in Arabic :

सुरा इखलास अरबी में

surah ikhlas in arabic text

Surah Ikhlas in English :

सूरह इखलास इंग्लिश में :

surah ikhlas english

Surah Ikhlas in Roman English :

सूरह इखलास रोमन इंग्लिश में :

surah ikhlas roman english

Surah Ikhlas in Hindi :

सुरा इखलास हिंदी में Surah Ikhlas in Hindi :

surah ikhlas hindi

Surah Ikhlas ki Fazilat :

सुरा इखलास एक छोटी और बहुत ही बेहतरीन और उम्दा सूरत है।

भले ही यह छोटी सूरत है लेकिन उसको पढ़ने की फजीलत इतनी बड़ी है कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते।

  • जो भी बंदा सूरह इखलास को तीन मर्तबा पढ़ लेता है उसको एक कुराने पाक पढ़ने का सवाब आता किया जाता है।
  • एक मर्तबा सुरा इखलास पढ़ने से जन्नत में आपका एक महल तैयार कर दिया जाता है जिसके दरवाजे 70000 होंगे।
  • अब आप अंदाजा लगा सकते हैं कि जिस महल के दरवाजे ही 70000 हो तो वह महल कितना बड़ा होगा।
  • इस सूरत को बावजू 300 मर्तबा पढ़ने वाले के लिए अल्लाह ताला गयब और गजब के 300 दरवाजे बंद कर देते हैं।
  • बावजू 300 मर्तबा इस सूरत को पढ़ने वाले को अल्लाह ताला रिज्क की कमी कभी नहीं होने देंगे।
  • इस सूरत पढ़ने वाले के लिए अल्लाह अपने रहमत के दरवाजे खोल देते हैं।
  • इस सूरत के पढ़ने वाले को अल्लाह ताला अपने इल्म से इल्म और अपनी मदद अता फरमाते हैं।
  • जब आप बावजू 300मर्तबा सूरह इखलास पढ़ते हैं तो आपको अल्लाह ताला 2000 रकात नफिल पढ़ने का सवाब आता फरमाएंगे।
  • इस सूरत के पढ़ने वाले के 50 साल के गुनाह माफ कर दिए जाएंगे।

Surah Ikhlas Kab Nazil Hui :

जब नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम से मदीना में लोगों ने सवाल किए के अल्लाह कौन है ,अल्लाह की जात क्या है ,क्या वह लोहे का है या फिर पत्थर का है या फिर सोने का है?

उसका वारिस कौन है, उसका खानदान क्या है? इस तरीके के सवाल वहां के लोगों ने हमारे नबी से किया तब यह है सूरत अल्लाह ताला ने नाजिल फरमाई।

जिसमें अल्लाह ताला ने फरमाया है कि ना वह किसी का वारिस है ना उसका कोई वारिस है। अल्लाह की जात सिर्फ एक है और उसके सिवा कोई माबूद नहीं है।

Surah Ikhlas ka Wazifa :

इस सूरज से आप कहीं चीजों के लिए वजीफा कर सकते हैं सबसे पहले

Surah Ikhlas ka Wazifa for Hajat :

यदि आपकी कोई दिली मुराद है या फिर आप किसी चीज को पाना चाहते हैं तो आप सुरा इखलास का यह वजीफा कर सकते हैं।

सबसे पहले बिस्मिल्लाह पढ़े और उसके बाद अव्वल आखिर दुरूद शरीफ के साथ हजार मर्तबा सूरा इखलास को पढ़ें।

ओर अल्लाह ताला से अपनी किसी भी जायज तमन्ना के लिए दुआ करें और इंशाल्लाह अल्लाह आपको उसे जरूर बक्शेगा ।

Surah Ikhlas ka Wazifa for Rizq :

अगर आप चाहते हैं कि आपका भी रिस्क में बरकत हो तो यह सुरा इखलास का वजीफा बहुत ही खास है।

जब भी आप अपने घर से बाहर जाएं या फिर अंदर आए तब आपको एक मर्तबा दुरूद शरीफ पढ़ कर एक मर्तबा सूरह इखलास पढ़नी है और इंशाल्लाह अल्लाह आपके रिज्क में बरकत फरमाएंगे।

Surah Ikhlas Wazifa for Job :

जब भी आप अपने घर से बाहर जाएं या फिर अंदर आए तब आपको एक मर्तबा दुरूद शरीफ पढ़ कर एक मर्तबा सूरह इखलास पढ़नी है और इंशाल्लाह अल्लाह आपके रिज्क में बरकत फरमाएंगे।

FAQ :


सूरह इखलास कौन से पारे में है?

सूरह इखलास 30 वे पारे में है।

Surah Ikhlas ka Dusra Naam Kya Hai?

सूरह इखलास का दूसरा नाम सूरा अल तौहीद है ।

Quran ki Pehli Surah Konsi Hai?

कुराने पाक की पहली सूरत सूरह फातिहा है।

Conclusion :

दोस्तों मैं उम्मीद करती हूं कि इस आर्टिकल Surah Ikhlas in Hindi में बताई गई सभी दुआएं आपकी समझ आ गई होगी ।

और मैने इस आर्टिकल Surah Ikhlas in Hindi में आपको सूरह इखलास के बारे में डिटेल देते हुए उसकी दो वजीफा भी बताए हैं जिससे कि आप अपने रिस्क में और अपनी हाजत को पूरा कर सकते हैं।

और तो और इस सूरत को पढ़कर अनगिनत फायदे भी हासिल कर सकते हैं , ऐसे ही इस्लामी आर्टिकल्स के लिए बने रहे मेरी वेबसाइट iftarkidua.com पर।

अगर आप इस आर्टिकल Surah Ikhlas in Hindi से रेलेटेड कुछ पूछना चाहते है तो मुझे कमेंट कर सकते है।

Fee Aman Allah!

दीन की बाते शेयर करना सदक़ा ए जारिया है , शेयर ज़रूऱ करे।

Assalamualaikum , आप सभी का स्वागत है मेरी वेबसाइट पर जिसका नाम है www.Iftarkidua.com । यहां पर आपको इस्लाम से जुड़ी ज्यादातर सभी जानकारियां दी जायेंगी । में आपको अपनी इस इस्लामिक साइट पर दीन से जुड़ी और हमारे इस्लाम से जुड़ी जानकारियां और इसके साथ साथ सभी दुआओं का विर्द करना क्यों जरूरी है और जिसको दुआएं याद नही उसके लिए भी हिंदी ट्रांसलेशन और के साथ दी जायेंगी

Leave a Comment