Masjid se Bahar Nikalne ki Dua | Masjid me Jane ki Dua

Assalamualaikum, आज के इस आर्टिकल में में आप सभी से साथ शेयर करूंगी masjid se bahar nikalne ki dua और मस्जिद में दाखिल होने की दुआ

मस्जिद , अल्लाह का घर है । ओर पांच वक्त अल्लाह आपको अपनी तरफ बुलाता है । जिससे की आप उससे बात कर सकें और अपने दिल की उसको सुना सकें ।

मस्जिद से निकलते वक्त और दाखिल होते वक्त दुआ पढ़ने की कोशिश किया करें । ओर अगर आपको दुआ याद नहीं है तो आप एकदम सही जगह आए हैं ।

आर्टिकल में मैं आपको मस्जिद से बाहर निकालने की दुआ और मस्जिद में जाने की दुआ हिंदी , इंग्लिश और अरेबिक ट्रांसलेशन के साथ बताऊंगी,

जिससे कि आप उसको अच्छे से याद कर सके और मस्जिद में दाखिल होते वक्त और मस्जिद से निकलते वक्त उन दुआओं को पढ़ सकें।

masjid se bahar nikalne ki dua ki fazilat :

मस्जिद से बाहर निकालने की दुआ की काफी बड़ी फजीलत है। क्योंकि जब भी आप मस्जिद से बाहर निकले और मस्जिद से बाहर निकालने की दुआ पढ़े तब आप पूरे रास्ते अल्लाह ताला की हिफाजत में रहते हैं।

दुआ की मदद से ही आप शैतान से भी बच्चे रहते हैं , इसीलिए जब भी आप मस्जिद से बाहर निकले तो masjid se bahar nikalne ki dua जरूर पढ़ें।

masjid se bahar nikalne ki dua :

जब भी आप मस्जिद से बाहर निकले, चाहे आप नमाज पढ़ कर निकले हो या फिर आप किसी काम को मुकम्मल करके निकले हो तब यह दुआ पढ़े ।

masjid se bahar nikalne ki dua in arabic :

जब भी आप मस्जिद से बाहर निकले तो यह masjid se bahar nikalne ki dua in urdu पढ़े जो की अरबी में है :

masjid se nikalne ki dua

masjid se bahar nikalne ki dua in hindi :

मस्जिद से बाहर निकलते वक्त पढ़ने की दुआ हिंदी में कुछ इस तरह से है :

masjid se bahar nikalne ki dua hindi

masjid se bahar nikalne ki dua in roman english :

मस्जिद से बाहर निकलने की दुआ इंग्लिश में , यानी की रोमन इंग्लिश में इस तरह से है :

masjid se bahar nikalne ki dua in roman english

Masjid se Bahar Nikalne ki Dua in English :

आप मस्जिद से निकलने की दुआ को इंग्लिश में कुछ यूं समझे :

masjid se nikalne ki dua in english

masjid se nikalne ka sunnat tarika :

नबी अकरम सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम के मस्जिद से बाहर निकालने के तरीके को आज हम जानेंगे जिससे की
masjid se nikalne ka sunnat tarika हम फॉलो कर सके।

  • मस्जिद से बाहर निकलते वक्त सबसे पहले बिस्मिल्लाह पढ़ें ।
  • उसके बाद मस्जिद से बाहर निकालने की दुआ पढ़े।
  • मस्जिद से निकलते वक्त अपना उल्टा पैर बाहर निकालें
  • जब आप अपना उल्टा पैर बाहर निकले तो उसे जूते पर रख दें फिर सीधा पैर बाहर निकालें।
  • सीधे पांव में पहले जूता पहने फिर उल्टे पांव में जूता पहने।
  • फिर दरूदे पाक पढ़े।

वजाहत (कुछ खास बातें ) :

  • हमेशा मस्जिद से बाहर निकलते वक्त बाया पैर बाहर निकले और फिर बाहर निकलने की दुआ पढ़े।
  • इसके साथ एक और बात का ध्यान रखें की मस्जिद से लौटते वक्त अल्लाह का नाम लेते चले।
  • मसजिद से लोटते या फिर मस्जिद में जाते वक्त , कहना कुछ यूं है की जब भी आप रास्ते में हों और कोई भी पत्थर रास्ते में आता देखें तो उसको हटा दिया करें , अल्लाह ताला अपकों इसका सवाब आता करेंगे ।

masjid me jane ki dua in arabic :

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ यह है :

masjid me jane ki dua

masjid me jane ki dua hindi :

जब भी मस्जिद में दाखिल हो तो यह दुआ पढ़े :

masjid me dakhil hone ki dua in hindi

masjid me jane ki dua in roman english :

कई लोग रोमन इंग्लिश और इंग्लिश में कंफ्यूज हो जाते हैं लेकिन मस्जिद में दाखिल होने की दुआ इन रोमन इंग्लिश यह है :

masjid me dakhil hone ki dua

masjid me jane ki dua ka tarjuma :

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ तर्जुमा के साथ यानी समझ कर पड़े , इसका तर्जुमा यह है :

masjid me dakhil hone ki dua with tarjuma

Masjid me Jane ki Dua in English :

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ इंग्लिश में ऐसे है :

masjid me dakhil hone ki dua in english

वजाहत (दाखिल होते वक्त बातें ध्यान में रखें ) :

  • जब भी मस्जिद में दाखिल हों तो सीधा पांव पहले रखें और दुआ पढ़ें ।
  • पाली की हालत में मस्जिद में जाएं और साफ सुथरे कपड़ों में जाएं ।
  • अल्लाह ताला फरमाते हैं की जितने भी कदम एक इंसान मस्जिद की तरफ लेता है उसको उतना ही ज़्यादा सवाब अता किया जाता है ।
  • कुछ भी करने से पहले बिस्मिल्लाह वाजिब है इसलिए मस्जिद में दाखिल होते वक्त भी बिस्मिल्लाह जरूर पढ़ें ।

F A Q :

मस्जिद में दाखिल होते वक्त क्या करना चाहिए ?

हमेशा दाएं पैर से दाखिल हों और दुआ पढ़ें , निकलते वक्त बाएं पैर पहले रखें और दुआ पढ़ें ।

मस्जिद में दाखिल होने की दुआ क्या है ?

मसजिद में दाखिल होने की दुआ Allahhummaf-tahli Abwaba Rahmatika है ।

मस्जिद में दाखिल होने से पहले मुसलमान क्या करते हैं ?

अपना चेहरा , हाथ पैर और मुंह एक विशेष तरीके से धोते हैं जिसे वुजू कहते हैं ।

Conclusion :

मैने आप सभी के लिए इस आर्टिकल में Masjid se bahar nikalne ki dua hindi mein के साथ साथ masjid mein dakhil hone ki dua masjid se nikalne ki dua भी बताई है ।

जिससे की आप समझ सकें और इस दुआ को याद कर लें , चूंकि जब भी आप मस्जिद से बाहर निकलें या फिर उसमे दाखिल हों तब ये बताई गई दुआ पढ़ें ।

ऐसे ही आर्टिकल्स के लिए बने रहे मेरी वेबसाइट www.iftarkidua .com पर । ओर दुआओं में याद रखें ।

फि अमान अल्लाह !

दीन की बाते शेयर करना सदक़ा ए जारिया है , शेयर ज़रूऱ करे।

Assalamualaikum , आप सभी का स्वागत है मेरी वेबसाइट पर जिसका नाम है www.Iftarkidua.com । यहां पर आपको इस्लाम से जुड़ी ज्यादातर सभी जानकारियां दी जायेंगी । में आपको अपनी इस इस्लामिक साइट पर दीन से जुड़ी और हमारे इस्लाम से जुड़ी जानकारियां और इसके साथ साथ सभी दुआओं का विर्द करना क्यों जरूरी है और जिसको दुआएं याद नही उसके लिए भी हिंदी ट्रांसलेशन और के साथ दी जायेंगी

Leave a Comment