Murgi Zibah Karne ki Dua | मुर्गी जिबह करने की दुआ

Assalamualaikum आज के इस खास आर्टिकल में आप सभी का इस्तकबाल है , आज का हमारा मौजू है murgi zibah karne ki dua क्या है।

murgi zibah karne ki dua और murgi zibah karne ka tarika के ऊपर आप डिटेल कंटेंट इस आर्टिकल में पाएंगे ।

इस आर्टिकल में मैं बात करुंगी कि मुर्गी जिभा करने का सही तरीका क्या होता है जिससे कि आप सही तरीका जान के उसे मुर्गी को हलाल कर सके।

आर्टिकल को पूरा और अच्छे से पढ़िए ताकि आप समझ सके की murgi zibah karne ki dua क्या है और किस तरह से पढ़ी जाती है और इसका सही तरीका क्या होता है।

Murgi Zibah Karne ki Dua :

Murgi zibah karne ki dua,में आपको चार ट्रांसलेशन के साथ बताऊंगी जो की हिंदी, इंग्लिश, रोमन इंग्लिश और अरबी में है।

Murgi Zibah Karne ki Dua in Arabic :

जब आप मुर्गी को ज़बह करें तो यह दुआ पढ़े :

urdu murgi zibah karne ki dua in arabic

Murgi Zibah Karne ki Dua in Hindi :

मुर्गी को जीबा करने की दुआ हिंदी में :

Murgi Zibah Karne ki Dua in English :

मुर्गी को ज़बह करने की दुआ इंग्लिश में :

murgi zibah karne ki dua in english

Murgi Zibah Karne ki Dua in Roman English :

मुर्गी को जीबा करने की दुआ रोमन इंग्लिश में :

Murgi Zibah Karne ki Dua ka Tarjuma :

अल्लाह के नाम से जो सबसे बड़ा है।

Murgi Zibah Karne ka Tarika :

जब आप मुर्गी को ज़बह करते हैं तो उसकी कुछ खास शर्ते हैं यानी कि जब भी आप मुर्गी को हल करते हैं तो उसके लिए आपको इन शर्तों का पूरा करना जरूरी है।

  • मुर्गी ज़बह करने वाला मुसलमान होना चाहिए।
  • मुर्गी ज़बह करने वाला मुसलमान मर्द या औरत दोनों में से कोई भी हो सकता है।
  • मुर्गी को जीबा करने वाला कोई समझदार नाबालिक बच्चा भी हो सकता है।
  • मुर्गी ज़बह करते वक्त मुर्गी जमा करने की दुआ पढ़े।
  • जब खंजर मुर्गी की गर्दन पर हो और उसकी गर्दन काटने वाली हो उससे पहले जमा करने की दुआ पढ़े।
  • जबान को हिला कर मुर्गी जमा करने की दुआ पढ़े, सिर्फ मन मन में दुआ ना पड़े।
  • दुआ को सिर्फ एक बार पढ़ना ही काफी है ।

Janwar Zibah Karte Waqt Wazu Karna Chahiye ya Nahi :

इस्लाम में सबसे पहले पाकी का नाम लिया जाता है । पाकी ही इंसान का आधा ईमान है।

जब इस मसले में बात आती है की किसी भी जानवर को ज़बह करने से पहले वजू होना जरूरी है या नही ।

तो ऐसा कुछ नही है की आप जब कोई जानवर ज़बह करें तब आपकी वजू हो, लेकिन अगर आप वजू बना लेते हैं तो और भी अच्छी बात है ।

ओर अगर आपके पास नहाने का वक्त है तो आप पाकी के लिए नहा भी सकते हैं ।

FAQ :

Murgi Zibah Karne ki Dua Kya Hai ?

मुर्गा हलाल करने की दुआ है ; بِسْمِ اللَّهِ الله أكبر

Murgi Zibah Karne ki Dua kab Padhen ?

मुर्गी ज़बह करते वक्त यानी जब खंजर मुर्गी के गले पर हो।

Murgi Zibah Karne ki Dua Kitni Bar Padhen ?

मुर्गी ज़बह करने की दुआ सिर्फ एक बार ,जबान हिलाकर पढ़ना ही काफी है ।

Murgi Zibah Kon Kar Sakta Hai ?

मुर्गी ज़बह करने वाले का मुसलमान होना जरूरी है ।

Conclusion :

दोस्तों, इस आज के आर्टिकल में murgi zibah karne ki dua के बारे में कई ट्रांसलेशन के साथ बताया गया है ताकि आप अच्छे से समझ कर एक मुर्गी को हलाल कर सकें ।

ओर कुछ खास बातें और नियतें भी बताई है उनका ध्यान रख कर आप एक मुंशी को हलाल कर सकते हैं ।

ऐसे ही आर्टिकल्स के लिए बने रहे इसी वेबसाइट iftarkidua.com पर ।

फि अमान अल्लाह !

दीन की बाते शेयर करना सदक़ा ए जारिया है , शेयर ज़रूऱ करे।

Assalamualaikum , आप सभी का स्वागत है मेरी वेबसाइट पर जिसका नाम है www.Iftarkidua.com । यहां पर आपको इस्लाम से जुड़ी ज्यादातर सभी जानकारियां दी जायेंगी । में आपको अपनी इस इस्लामिक साइट पर दीन से जुड़ी और हमारे इस्लाम से जुड़ी जानकारियां और इसके साथ साथ सभी दुआओं का विर्द करना क्यों जरूरी है और जिसको दुआएं याद नही उसके लिए भी हिंदी ट्रांसलेशन और के साथ दी जायेंगी

Leave a Comment