सूरह कुरैश | Surah Quraish ki Fazilat in Hindi

Assalamualaikum दोस्तों, आज के आर्टिकल Surah Quraish ki Fazilat in Hindi में आप जानेंगे और surah quraish को पढ़ने के फायदे ।

इसी के साथ साथ इस सुरा की फजीलत , सूरह कुरैश का तर्जुमा और सूरह कुरैश के वज़ीफ़े के बारे में जानेगे।

surah quraish के बहुत से फायदे है जैसे वजन काम करना , इसको पढ़ने से आप अपना मोटापा भी कम कर सकते हे इसीलिए पुरे आर्टिकल को अच्छे से पढ़े।

Surah Quraish :

इस सूरत को मैंने कई सारे ट्रांसलेशन जैसे की hindi, English , Arabic और urdu के साथ निचे बताया है।

Surah Quraish in Arabic :

सुरा कुराइश अरबी टेक्स्ट में :

surah quraish in arabic

Surah Quraish in Hindi :

सूरह कुरैश हिंदी में पढ़े :

लि-इलाफी कुरैश

इलाफिहिम् रिह् ल तशिशिता इ वस्सैफ़

फल यअबुदू रब् ब हाजल् बैत

अल्ल्जी अत अ म हुम् मिन् जूअिव् व आ म नहूम मिन् खौफ

Surah Quraish in Roman English


सुरा कुरैश रोमन इंग्लिश में पढ़े :

surah quraish in roman english

Surah Quraish ka Tarjuma

सूरह कुरैश का तर्जुमा यह है :

surah quraish tarjuma

Surah Quraish Tafseer in Hindi

Surah quraish की तफसीर आपको हिंदी में नीचे दी गई है । इसको अच्छे से पढ़ें ताकि इस सूरत को आप ज्यादा समझ सकें ।

Quraish kya hai?

सुरा कुराइश एक कबीले का नाम हुआ करता था । ये मक्का के सबसे आबाद कबीलों में से एक था ।

इस कबीले को काबे शरीफ की देख देख का जिम्मा था । Quraish कबीला मक्का की हिफाजत किया करता था ।

ये कबीला ज्यादतार ऊंट पाला करते थे , ऐसा इसलिए क्योंकि मक्का एक रेगिस्तानी इलाका था जहां पर पानी और खाना मिलना मुश्किल था ।

और जानवरों के लिए पानी और खाना मिलना तो बेहद ही मुश्किल हुआ करता था । इसलिए ये कबीला ऊंट को ही पाला करते थे ।

जैसा की आप जानते ही है, ऊंट एक ऐसा जानवर है जिसका पानी स्टोर रहता है और वो काम पानी में भी गुजारा कर लेता है ।

और अपने खाना रेगिस्तानी पेड़ों को बनाने हैं , इसी के साथ साथ वो रेगिस्तान में चलने की ताकत रखते हैं ।

इस काबिले का रोजगार तिजारत हुआ करता था । और वो इन्ही ऊंटों पर रेगिस्तानों को पार करके साल में दो बार तिजारत के लिए जाया करते थे ।

जिस इलाके में वो जाया करते थे वहां पर लूट पाट ज्यादा हुआ करती थी। लेकिन कुरेश काबिले को कोई लूट नही सकता था क्योंकि उसकी सब इज्जत किया करते थे ।

Quraish Kabile Par koi Hamla Kyu Nahi Karta Tha ?

कूरेश काबिले की सब इज्जत किया करते थे इसलिए उन्हें कोई लूट नही सकता था और उन पर कोई हमला भी नही करता था ।

Quresh काबिले पर हमला न करने की बड़ी वजह ये भी थी की वो मक्का में काबा की देख भाल करते थे।

और जब वो अपने काम के लिए कहीं पर जाते तो लोग उनकी खातिर किया करते थे ।

Quresh kabile Par Allah ke Konse Inam the?

Quresh कबीला पर अल्लाह ताला के तीन इनाम मोजूद थे । इस सूरत में वही सब बयां हुआ है ।

वो इनाम थे :

कुरेश कबीले का सर्दी और गर्मी के मौसम में बेखौफ साल में दो बार अपने कारोबार के लिए सफर करना।
उन पर सफर के दौरान कोई हमला न होना यानी के ऐसी जगह जहां कोई हुकूमत ना थी उनका बेखौफ सफर करना।
रेगिस्तानी इलाके यानी की मक्का के आसपास का इलाके में गुजर बसर करना , जहां पानी और खाना ना तो जानवरों के लिए और ना ही इंसानों के लिए मुकम्मल था।

यह तीन खास नेमते और अल्लाह के इनाम उनको इसलिए दिए गए थे क्योंकि वह मक्का में मौजूद काबा शरीफ की हिफाजत और देखरेख क्या करते थे।

Surah Quraish ki Fazilat in Hindi :

सूरह कुरैश को पढ़ने की कई फजीलत है और फायदे हैं :

  • इसकी रोजाना दिलावत से अल्लाह ताला आपके घर में और रोजी-रोटी में बरकत फरमाता है।
  • आपको और आपके घर वालों को बुरे लोगों और शायतीन से बचाता है।
  • इस दुआ के रोजाना पढ़ने वाले को अल्लाह अपनी नेमतों से नवाजता है।

FAQ :

Surah Quraish kis Par Nazil Hui?

सूरह कुरेश, कुरेश कबीले पर नाजिल हुई।

Surah Quraish Kon se Pare Me Hai ?

सूरह कुरैश 30 वे पैर में मौजूद है।

Surah Quraish Kon se Number ki Surah Hai ?

सूरह कुरैश 106 नंबर की सूरह है ।

Surah Quraish Kaha Nazil Hui?

सूरह कुरेश मक्का में नाजिल हुई ।

Conclusion :

इस आर्टिकल Surah Quraish ki Fazilat in Hindi में आपको सूरह कुरैश के कई ट्रांसलेशन और तर्जुमा बताया है जिससे कि आप इसको जल्द से जल्द और अच्छे से याद कर सके।

इस सूरह कुरैश दुआ की बहुत अच्छी फजीलत है । इस सूरह को पढ़ने वाले के लिए कई इनाम है।

ऐसे ही और इस्लामी आर्टिकल्स के लिए बने रहे इसी वेबसाइट पर।

सी अमान अल्लाह !

दीन की बाते शेयर करना सदक़ा ए जारिया है , शेयर ज़रूऱ करे।

Assalamualaikum , आप सभी का स्वागत है मेरी वेबसाइट पर जिसका नाम है www.Iftarkidua.com । यहां पर आपको इस्लाम से जुड़ी ज्यादातर सभी जानकारियां दी जायेंगी । में आपको अपनी इस इस्लामिक साइट पर दीन से जुड़ी और हमारे इस्लाम से जुड़ी जानकारियां और इसके साथ साथ सभी दुआओं का विर्द करना क्यों जरूरी है और जिसको दुआएं याद नही उसके लिए भी हिंदी ट्रांसलेशन और के साथ दी जायेंगी

Leave a Comment