Best Roza Kholne ki Dua Aur Tarika

अस्सलाम वालेकुम , जैसा कि आप सभी जानते हैं रमजान काफी करीब है तो आज मैं आप सभी के साथ इसी मोजू पर बात करूंगी की roza kholne ki dua क्या होती है।

रमजान में रोजा रखना सभी मुसलमान पर वाजिब है। जैसे की रोजा रखने की नियत करना काफी जरूरी होती है।

इसी तरीके से रोजे रखने के काफी सारे मसाले होते हैं।उसके बाद रोजा खोलने के भी काफी सारे तो नहीं पर कुछ खास बातें ध्यान रखनी होती है जैसे कि रोजा खोलने से पहले दुआ करना और roza kholne ki dua पढ़ना।

लोग roza kholne ki dua याद नहीं रख पाते हैं लेकिन आप सभी को चिंता करने की कोई बात नहीं है।

इस आर्टिकल में मैं आपके साथ शेयर करूंगी roza kholne ki dua हिंदी इंग्लिश और अरबी ट्रांसलेशन के साथ।

इसके साथ-साथ में आपको roza kholne ki dua या कहे iftar ki dua का तर्जुमा भी बताऊंगी जिससे कि आप अच्छे से उसे दुआ को समझ कर अल्लाह से अपने और सबके लिए दुआ कर सकते हैं।

roza kholne ki dua in arabic :

रोज़ा खोलने का सही तरीका है की पहले आप अच्छे से दुआ करें , रोजा खोलने की नियत करे ,उसके बाद जब ऐलान हो तब रोजा खोलने की दुआ करने की दुआ पढ़कर रोज़ा इफ्तार करें । निचे roza kholne ki dua ki photo सभी भाषा में दी गई हो,

रोजा खोलने की दुआ उर्दू में दुआ इस तरह से है :

Roza Kholne Ki Dua In Arabic

roza kholne ki dua in hindi :

Roza kholne ki dua image hindi में दी गई है , रोजा खोलने की दुआ हिंदी में फोटो में कुछ इस तरह से है :

Roza Kholne Ki Dua In Hindi

roza kholne ki dua in english :

रोजा इफ्तार करने की दुआ इंलिश में इस तरह है :

Roza Kholne Ki Dua In English

roza kholne ki dua in punjabi :

Roza kholne ki dua punjabi में कुछ इस तह है ;

Roza Kholne Ki Dua In Punjabi

roza kholne ki dua tarjuma ke sath :

यह दुआ रोजा इफ्तार का टाइम करते वक्त काफी बड़ी फजीलत रखती है । इसके तर्जूमे से समझें :

Roza Kholne Ki Dua Tarjuma Ke Sath

roza kholne ki dua ki fazilat :

जब आप इस दुआ को इफ्तार करने से पहले पढ़ते हैं तो आपको कई हजार नेकियां और उनके साथ साथ इस दुआ के फजलों करम से इफ्तार करने ओर अल्लाह से दुआओं की कुबूलियत का मौका मिलता है ।

ramzan ki fazilat :

मेने आपको रोजा इफ्तार की दुआ तो बता दी है । अब मैं आपको रमदान की कुछ खास फजीलतें बताना चाहती हू ।

रमज़ान के महीने में जन्नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं ।

रमज़ान के महीने में दोजख के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं ।

रमज़ान के इस मुबारक महीने में शैतान को कैद कर दिया जाता है ।

चाहे कितना भी बड़ा गुनहगार क्यों ना हो , अगर वो इस मुबारक महीने को इज्जत और रोज रखकर और इबादत करके गुजर करता है तो अल्लाह सुबहान वाताला उसके तमाम गुनाहों को मुआफ फरमा देता है ।

जो भी इस मुबारक महीने में दिल से अपने गुनाहों से पनाह मांगता है तो अल्लाह ताला उसके सभी गुनाह माफ फरमाता है ।

imaan walo ke liye behtreen baatein :

म सभी मुसलमानों के लिए अल्लाह ने बहुत ही बेहतरीन तौफें इस दुनिया में दिए हैं । जिसमे से एक है हमारी नाभी पाक सल्लल्लाह हु अलायही वसल्लम की उम्मत में होना ।

उसके इलावा

1 – रमज़ान का बेहतरीन महीना और उसमे रोज रखना :

रोज रखने की फजीलत तो काफी ज्यादा बड़ी है लेकिन अगर में नॉर्मली बात करू तो एक इंसान रमदान के रोज़े रख कर कुछ इस तरह से पाक हो जाता है जिस तरह से एक नया पैदा हुआ बच्चा होता है ।

2 – अल्लाह से मुलाकात :

सोचिए वो भी क्या मंजर होगा जब हम सभी की roz -e akhirat अल्लाह से मुलाकात होगी ।

तो यह भी एक बहुत ही खास तौफा है अल्लाह की तरफ से की हम सब उनके सामने पेश होंगे और उनसे मुलाकात करेंगे ।

Conclusion :

मेरे सभी दोस्तों के लिए मेने इस आर्टिकल में roza kholne ki dua के बारे में कुछ डिटेल्स शेयर की हैं ।

ताकि जो मेरे दोस्त ऐसे हैं , जोकि roza kholne ki dua के बारे में सही से नहीं जानते या फिर उसको याद करना चाहते हैं तो याद कर सकें ।

या फिर कोई कन्फ्यूजन हो तो उसे भी दूर कर सकें । ऐसे ही आर्टिकल्स के लिए बने रहे मेरे साथ ।

फि अमान अल्लाह !

दीन की बाते शेयर करना सदक़ा ए जारिया है , शेयर ज़रूऱ करे।

Assalamualaikum , आप सभी का स्वागत है मेरी वेबसाइट पर जिसका नाम है www.Iftarkidua.com । यहां पर आपको इस्लाम से जुड़ी ज्यादातर सभी जानकारियां दी जायेंगी । में आपको अपनी इस इस्लामिक साइट पर दीन से जुड़ी और हमारे इस्लाम से जुड़ी जानकारियां और इसके साथ साथ सभी दुआओं का विर्द करना क्यों जरूरी है और जिसको दुआएं याद नही उसके लिए भी हिंदी ट्रांसलेशन और के साथ दी जायेंगी

1 thought on “Best Roza Kholne ki Dua Aur Tarika”

Leave a Comment